छोटी सी खुशी से जुडने से पहले मैं एक हाउस वाइफ़ थी और अपना ज़्यादातर वक़्त इधर उधर बैठ कर काट देती थी किन्तु जब मैं नमिता मैडम के संपर्क में आई तब उन्होने मुझे बताया कि मैं अपने खाली समय में क्या क्या कर सकती हूँ । उनके साथ रहते हुए मैंने छोटी सी खुशी में काफी चीज़ें सीखीं जैसे दिये और मूर्तियाँ आदि पैंट करना , कपड़े के हैंडबैग बनाना। मैं अपने साथ कि बाकी औरतों कि मदद करना भी सीख गयी। मेरी मदद से मेरी एक पड़ोसन अपने पीटने वाले पति क चंगुल से बच  पायी । अब मुझे अपने आप पर बहुत गर्व महसूस होता है कि मैं अपने हाली वक़्त का सदुपयोग बहुत अच्छे काम के लिए करती हूँ। छोटी सी खुशी ने मेरे बच्चों कि पढ़ाई में भी मुझे बहुत मदद कि है ।

Related Post

November 25, 2022

Workshop At Sewara Village

Last month we organised a three days workshop for

November 16, 2022

Story of Ms Anita Devi ji

We’ve heard a lot about how people who keep

2 Comments

    • erotik
      March 2, 2021 at 7:44 am Reply

      Sounds amazing. Well done you two. What a great adventure. Selma Ruprecht Emmalynne

    • erotik
      March 2, 2021 at 7:49 am Reply

      Awesome write-up. I am a normal visitor of your site and appreciate you taking the time to maintain the excellent site. I will be a frequent visitor for a really long time. Rosene Harmon Mallissa

Post a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *